Tu Chale Lyrics

Tu Chale Lyrics
Movie – ‘I’ movie, Arijit Singh, Shreya Ghoshal
Tu chale sang chale sabhi gul
Apna hai ye khayaal
Apna hai ye khayaal (x2)
Hai aisa lage wahaan roz khile gul
Jahaan tera aana jaana
Hai aisa lage gul ghalati se ban gaye
Rab ne tha tujhe banana
Ye mehaka mausam, husn ka aalam
Hai teri hi parchaai
Apna hai ye khayaal
Apna hai ye khayaal
Tu chale sang chalein sabhi gul
Apna hai ye khayaal
Apna hai ye khayaal
(sargam by shreya ghoshal)
Tu na jaane
na.. na jaane
na.. na na re
Jaana tera khayal, jaana tera kya haal
Tere jiya ki taal surmayi
Aankhon mein hai shabaab
Jaise khile gulaab
Dekhe aise hi khwab hum kayi
Tere aane se yaar aisa aaya nikhaar
Jaise aayi bahaar ho nayi
Tere hothon ke jaam peelun subah shaam
Tu toh mera hi naam ho gayi
Meri duniya mein tune hai rang bhara
Mere saath ye duniya dekh zaraa
Meri tu hi toh hai pyaari duniya, saari duniya
Mere hum-kadam…
Tu chale, sang chalein sabhi gul
Apna hai ye khayaal
Apna hai ye khayaal
Hai aisa lage wahaan roz khilein gul
Jahaan tera aana jaana
Hai aisa lage gul ghalati se ban gaye
Rab ne tha tujhe banaana
Ye mehaka mausam, husn ka aalam
Hai teri hi parchaai
Apna hai ye khayaal
Apna hai ye khayaal
Door khile rang kaunsa rang tera hai batlana
Lo haath se chhoota dil
rang tere maine rang hai jaana
Mehak gayi hai le khushboo
Mehka tera jo hai ye aanchal
Phoolon ki tu hai raani ya phir tu hai koi samdal
Dheemi dheemi baatein sahaj sugam mausam
Piya mere aise mausam ab aayenge hardum
Tu jo mujhe haasil naina kare jhilmil
Saathi tere hone se hai khushiyon ke ya kaafile
Tu chale, sang chalein sabhi gul
Apna hai ye khayal
Apna hai ye khayal
Hai aisa lage gul ghalati se ban gaye
Rab ne tha tujhe banana
Hai aisa lage wahaan roz khilein gul
Jahaan tera aana jaana
Ye mehaka mausam, husn ka aalam
Hai teri hi parchaai
Apna hai ye khayaal
Apna hai ye khayaal
Tu chale.. sang chale sabhi gul
Apna hai ye khayaal
Apna hai ye khayaal


Tu Chale Lyrics In Hindi

तू चले संग चले सभी गुल
अपना है ये ख़याल, अपना है ये ख़याल

तू चले संग चले सभी गुल
अपना है ये ख़याल, अपना है ये ख़याल
है ऐसा लगे वहाँ रोज़ खिले गुल
जहां तेरा आना जाना
है ऐसा लगे गुल ग़लती से बन गए
रब ने था तुझे बनाना
ये महका मौसम, हुस्न का आलम
है तेरी ही परछाई
अपना है ये ख़याल, अपना है ये ख़याल

तू चले संग चले सभी गुल
अपना है ये ख़याल, अपना है ये ख़याल

तू जाने ना.. ना जाने ना..माने

जाना तेरा ख़याल, जाना तेरा क्या हाल
तेरे जिया की ताल सुरमयी
आँखों में है शबाब, जैसे खिले गुलाब
देखे ऐसे ही ख़वाब हम कई

तेरे आने से यार ऐसा आया निखार
जैसे आई बहार हो नयी
तेरे होंठों के जाम पीलूँ सुबह शाम
तू तो मेरा ही नाम हो गयी

मेरी दुनिया में तूने है रंग भरा
मेरे साथ ये दुनिया देख ज़रा
मेरी तू ही तो है प्यारी दुनिया
सारी दुनिया मेरे हमकदम

तू चले संग चलें सभी गुल
अपना है ये ख़याल, अपना है ये ख़याल

है ऐसा लगे वहाँ रोज़ खिलें गुल
जहां तेरा आना जाना
है ऐसा लगे गुल ग़लती से बन गए
रब ने था तुझे बनाना
ये महका मौसम, हुस्न का आलम
है तेरी ही परछाई
अपना है ये ख़याल, अपना है ये ख़याल

दूर खिले रंग कौनसा रंग तेरा है बतलाना
लो हाथ से छूटा दिल, रंग तेरे मैंने रंग है जाना
महक गयी है ले खुशबू, महका तेरा जो है ये आँचल
फूलों की तू है रानी या फिर तू है कोई संदल

धीमी धीमी बातें सहज सुगम मौसम
पिया मेरे ऐसे मौसम अब आएंगे हरदम
तू जो मुझे हासिल, नैना करे झिलमिल
साथी तेरे होने से है खुशियों के या काफ़िले
तू चले संग चले सभी गुल
अपना है ये ख़याल, अपना है ये ख़याल

है ऐसा लगे गुल ग़लती से बन गए
रब ने था तुझे बनाना
है ऐसा लगे वहाँ रोज़ खिलें गुल
जहां तेरा आना जाना
ये महका मौसम, हुस्न का आलम
है तेरी ही परछाई
अपना है ये ख़याल, अपना है ये ख़याल

तू चले.. संग चलें सभी गुल
अपना है ये ख़याल, अपना है ये ख़याल

343total visits,1visits today

Tagged .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *