Kishor Kumar Manzile Apni Jagah Hai Raaste Apni Jagah song Lyrics

Manziloon Pe Aa Ke Lootate Hain Dilon Ke kaaravaan
Kashtiya Saahil Pe Aksar Doobati Hain Pyaar Ki

Manzile Apni Jagah Hain Raaste Apni Jagah

Manzile Apni Jagah Hain Raaste Apni Jagah

Jab Kadam Hi Saath Naa De To Musaafir Kyaa Kare
Yoon To Hai Humdard Bhi Aur Humsafar Bhi Hai Meraa

Jab Kadam Hi Saath Naa De To Musaafir Kyaa Kare
Yoon To Hai Humdard Bhi Aur Humsafar Bhi Hai Meraa

Badh Ke Koyi Haath Naa De Dil Bhalaa Phir Kyaa Kare
Manzile Apni Jagah Hai Raaste Apni Jagah
Doobne Waale Ko Tinke Kaa Sahaaraa Hi Bahot
Dil Bahal Jaaye Fakat Itnaa Ishaaraa Hi Bahot
Itne par bhi aasmaan wala gira de bijliyan
Koi batla de zara yeh doobta phir kyaa kare
Manzile'n Apni Jagah Hen Raasty Apni Jagah
Pyaar Karnaa Jurm Hai Tho Jurm Hum Se Ho Gayaa
Qaabil-E-Maafi Huaa karte Nahin Aise Gunaah
tangdil Hai Ye Jahaa'n Aur Sangdil Meraa Sanam
Kyaa Kare Josh-E-Junoo'n Aur Hauslaa phir Kyaa Kare
Manzile'n Apni Jagah Hen Raasty Apni Jagah
Jab kadam Hi Saath Naa De To Musaafir Kyaa Kare
Yoon To Hai Humdard Bhi Aur Humsafar Bhi Hai Meraa
Badh Ke Koyi Haath Naa De Dil Batla phir Kyaa Kare

मंजिलों पे आ के लूटते हैं दिलों के कारवां
कश्तिया साहिल पे अक्सर डूबती हैं प्यार की

मंजिले अपनी जगह है रास्ते हैं अपनी जगह

मंजिले अपनी जगह है रास्ते अपनी जगह

जब कदम ही साथ ना दे तो मुसाफिर क्या करे
यूं तो है हमदर्द भी और हमसफर भी है मेरा

Recommended for you  Waqt Se Pehle Kismat Se Jyada Lyrics in Hindi

जब कदम ही साथ ना दे तो मुसाफिर क्या करे
यूं तो है हमदर्द भी और हमसफर भी है मेरा

बड के कोई हाथ ना दे दिल भला फिर क्या करे
मंजिले अपनी जगह है रास्ते अपनी जगह
डूबने वाले को तिनके का सहारा ही बहोत
दिल बहल जाए फकत इतना इशारा ही बहोत
इतने पर भी आसमान वाला गिरा दे बिजलियाँ
कोई बतला दे ज़रा यह डूबता फिर क्या करे
मंजिले अपनी जगह हें रास्ते अपनी जगह
प्यार करना जुर्म है तो जुर्म हम से हो गया
काबिल ए माफ़ी हुआ करते नहीं ऐसा गुनाह
तंगदिल है ये जहा और संगदिल मेरा सनम
क्या करे जोश ए जूनून और हौसला फिर क्या करे
मंजिले अपनी जगह हें रास्ते अपनी जगह
जब कदम ही साथ ना दे
यूं तो है हमदर्द भी और हमसफर भी है मेरा
बढ़ के कोई हाथ ना दे दिल बतला फिर क्या करे

762total visits,2visits today

Tagged , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *