Mere Rom Rom Mein Basne Wale Ram Lyrics in Hindi

He rom rom me basane waale raam
He rom rom me basane waale raam
Jagat ke swami he antaryaami
Mai tujhase kya maangu
Mai tujhase kya maangu
He rom rom me basane waale raam

Aas kaa bandhan tod chuki hu
Tujhpar sab kuchh chhod chuki hu
Aas kaa bandhan tod chuki hu
Tujhpar sab kuchh chhod chuki hu
Naath mere mai kyo kuchh sochu
Naath mere mai kyo kuchh sochu
tu jaane teraa kaam
Jagat ke swami he antaryaami
Mai tujhase kya maangu
Mai tujhase kya maangu
He rom rom me basane waale raam

Tere charan ki dhul jo paaye
Woh kankar hira ho jaaye
Tere charan ki dhul jo paaye
Woh kankar hira ho jaaye
Bhaag mere jo maine paaya
In charano me dhaam
Jagat ke swami he antaryaami
Mai tujhase kya maangu
Mai tujhase kya maangu
He rom rom me basane waale raam

Bhed teraa koi kya pahachaane
Jo tujhasa ho woh tujhe jaane
Bhed teraa koi kya pahachaane
Jo tujhasa ho woh tujhe jaane
Tere kiye ko ham kya de ve
Tere kiye ko ham kya de ve
Bhale bure kaa naam
Jagat ke swami he antaryaami
Mai tujhase kya maangu
Mai tujhase kya maangu

He rom rom me basane waale raam
Jagat ke swami he antaryaami
Mai tujhase kya maangu
Mai tujhase kya maangu
He rom rom me basane waale raam

हे रोम रोम में बसने वाले राम
हे रोम रोम में बसने वाले राम
जगत के स्वामी हे अंतरयामी
मै तुझसे क्या मांगू
मै तुझसे क्या मांगू
हे रोम रोम में बसाने वाले राम

आस का बंधन तोड़ चुकी हूँ
तुझपर सब कुछ छोड़ चुकी हूँ
आस का बंधन तोड़ चुकी हूँ
तुझपर सब कुछ छोड़ चुकी हूँ
नाथ मेरे मै क्यों कुछ सोचूं
नाथ मेरे मै क्यों कुछ सोचूं
तू जाने तेरा काम
जगत के स्वामी हे अंतरयामी
मै तुझसे क्या मांगू
मै तुझसे क्या मांगू
हे रोम रोम में बसने वाले राम

तेरे चरण की धूल जो पाए
वो कंकर हीरा हो जाये
तेरे चरण की धूल जो पाए
वो कंकर हीरा हो जाये
भाग मेरे जो मैंने पाया
इन चरणों में धाम
जगत के स्वामी हे अंतरयामी
मै तुझसे क्या मांगू
मै तुझसे क्या मांगू
हे रोम रोम में बसने वाले राम

भेद तेरा कोई क्या पहचाने
जो तुझसा हो वोह तुझे जाने
भेद तेरा कोई क्या पहचाने
जो तुझसा हो वोह तुझे जाने
तेरे किये को हम क्या देवें
तेरे किये को हम क्या देवें
भले बुरे का नाम
जगत के स्वामी हे अंतरयामी
मै तुझसे क्या मांगू
मै तुझसे क्या मांगू

हे रोम रोम में बसने वाले राम
जगत के स्वामी हे अन्तरयामी
मै तुझसे क्या माँगू
मै तुझसे क्या माँगू
हे रोम रोम में बसने वाले

1759total visits,1visits today

Tagged , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *