Shaandaar Nazdeekiyaan Lyrics Hindi

Raaton ke jaage subah miley hai
Resham ke dhaage yeh silsile hai
Laazmi si lagne lagi hai
Do dilon ki ab nazdeekiyan

Dikhti nahi par ho rahi hain nazdeekiyan
Do dil hi jaane lagti hain kitni mehfooz nazdeekiyan

Zariya hain ye aankhein zariya
Chhalakta hai jinse ek armaano ka dariya
Aadate hain inki purani
Ankahi si keh de kahani
Parchaaiyan do judne lagi hai
Dekho hawa mein udne lagi hai
Pankh jaisi lagne lagi hain
Do dilon ki ab nazdeekiyan

रातों के जागे सुबह मिले हैं
रेशम के धागे ये सिलसिले हैं
लाज़मी सी लगने लगी है
दो दिलों की अब नज़दीकियां
हम्म दिखती नहीं है
पर हो रही हैं महसूस नज़दीकियां
दो दिल ही जाने
लगती हैं कितनी मेहफ़ूज़ नज़दीकियां

ज़रिया हैं ये आखें ज़रिया
छलकता है जिनसे एक अरमानों का दरिया
आदतें हों इनकी पुरानी
अनकही सी कह दे कहानी

परछाइयाँ दो जुड़ने लगी हैं
देखो हवा में उड़ने लगी हैं

पंख जैसी लगने लगी है
दो दिलों की अब नज़दीकियां

544total visits,1visits today

Recommended for you  Yaaram Lyrics from Happy Bhag Jayegi
Tagged , , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *