Dekho Maine Dekha Hai Ek Sapna Lyrics

Song : Dekho Maine Dekha Hai Ek Sapna
Singer : Lata Mangeshkar, Amit Kumar
Movie : Love Story
Lyrics : Anand Bakshi

Dekho mai ne dekha hai yah ik sapna
phulo ke shahar me hai ghar apna
kya sama hai tu kaha hai
mai aai aai aai aai
aa jaa
kitanaa hasin hai yah ik sapna
phulo ke shahar me hai ghar apna
kyaa samaa hai tu kahaan hai
mai aayaa aayaa aayaa aayaa
aa jaa
yahaan teraa meraa naam likhaa
rastaa nahi yah aam likhaa hai
ho, yah hai daravaza tu jahaan khadi hai
andar aa jaao sardi badi hai
yahan se nazara dekho parvato kaa
jhankun mai kahaan se kahan hai jharokha
yah yahaan hai, tu kahaan hai
mai aai aai aai
aa jaa
kitanaa hasin hai yah ik sapna
phulo ke shahar me hai ghar apna
kyaa samaa hai tu kahaan hai
mai aayaa aayaa aayaa aayaa
aa jaa
achchhaa yah bataao kahaan pe hai paani
baahar bah rahaa hai jharanaa divani
bijali nahi hai yahi ik gam hai
teri bindiyaa kya bijali se kam hai
chhodo mat chhedo bazaar jaao
jaataa hun jaaungaa pahale yahaan aao
shaam javaan hai tu kahaan hai
mai aai aai aai
aa jaa
dekho mai ne dekha hai yah ik sapna
phulo ke shahar me hai ghar apna
kya sama hai tu kah hai
mai aai aai aai aai
aa jaa
kaisi pyaari si hai yah chhoti si rasoi
ho ham dono hai bas dujaa nahi koi
is kamare me hogi mithi baate
us kamare me guzaregi raate
yah to bolo hogi kahaan pe ladaai
mai ne vah jagah hi nahi banaai
pyaar yahaan hai tu kaha hai
mai aai aai aai
aa jaa
kitanaa hasin hai yah ik sapna
phulo ke shahar me hai ghar apna
kyaa samaa hai tu kahaan hai
mai aai aai aai aai
aa jaa
dekho mai ne dekha hai yah ik sapna
phulo ke shahar me hai ghar apna
kya sama hai tu kah hai
mai aai aai aai aai
aa jaa
mai aai aai aai aai
aa jaa
mai aai aai aai aai
aa jaa

देखो मैंने देखा है यह इक सपना
फूलो के शहर में है घर अपना
क्या समां है तू कहाँ है
मैं आई आई आई आई
आ जा
कितना हसीन है यह इक सपना
फूलो के शहर में है घर अपना
क्या समा है तू कहाँ है
मैं आया आया आया आया
आ जा
यहाँ तेरा मेरा नाम लिखा
रास्ता नहीं यह आम लिखा है
हो, यह है दरवाजा तू जहां खड़ी है
अन्दर आ जाओ सर्दी बड़ी है
यहाँ से नज़ारा देखो पर्वतो का
झाँकू  मैं कहाँ से कहाँ हैं झरोखा
यह यहाँ हैं, तू कहाँ हैं
मैं आई आई आई
आ जा
कितना हसीन हैं यह इक सपना
फूलो के शहर में है घर अपना
क्या समा है तू कहाँ हैं
मैं आई आई आई आई
आ जा
अच्छा यह बताओ कहा पर है पानी
बाहर बह रहा है झरना दीवाना
बिजली नहीं है यही इक गम हैं
तेरी बिंदिया क्या बिजली से कम हैं
छोडो मत छेड़ो बाज़ार जाओ
जाता हूँ जाऊँगा पहले यहाँ आओ
शाम जवां  है तू कहाँ है
मैं आई आई आई
आ जा
देखो मेने देखा है यह इक सपना
फूलो के शहर में है घर अपना
क्या दम हैं तू कह है
मै आई आई आई आई
आ जा
कैसी प्यारी सी हैं यह छोटी सी रसोई
हो हम दोनों हैं दूजा नहीं कोई
इस कमरे में होंगी मीठी बाते
उस कमरे में गुजरेगी रात
यह तो बोलो होगी कहाँ पे लड़ाई
मैं ने वह जगह ही नहीं बनाई
प्यार कहाँ हैं तो कहा है
मैं आई आई आई
आ जा
कितना हसीन है यह इक सपना
फूलो के शहर में है घर अपना
क्या समा है तू कहाँ है
मैं आई आई आई आई
आ जा
देखो मेने देखा हैं यह इक सपना
फूलो के शहर में है घर अपना
क्या समा है तू कहाँ है
मैं आई आई आई आई
आ जा
मैं आई आई आई आई
आ जा
मैं आई आई आई आई
आ जा

1082total visits,1visits today

Tagged , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *