Waqt Se Pehle Kismat Se Jyada Lyrics in Hindi


Song : Waqt se Pahle Kismat se Jyada
Singers: Kishor Kumar
Movie : Biwi O Biwi (1981)
Lyrics : Vithalbhai Patel

vaqt se pahale qisamat se jyada
vaqt se pahale qisamat se jyada kisi ko mila hai na kisi ko milega
pyar se sara gulashan mahake nafarat se koi gul na khilega
vaqt se pahale qisamat se jyada kisi ko mila hai na kisi ko milega
pyar se sara gulashan mahake nafarat se koi gul na khilega 

gam ko hamane git bana kar is duniya ka dil bahalaya
gam ko hamane git bana kar is duniya ka dil bahalaya

hansate hansate jane kaise dil hi dil me tumako paya
ham hai sabake, koi na apana ik din koi apana milega
pyar se sara gulashan mahake nafarat se koi gul na khilega

vaqt se pahale qisamat se jyada kisi ko mila hai na kisi ko milega
pyar se sara gulashan mahake nafarat se koi gul na khilega 

nain mile aur chain ganvaya bat purani phir bhi nai hai
nain mile aur chain ganvaya bat purani phir bhi nai hai

teri nazar ne meri nazar se bin bole ik bat kahi hai
dekh ke mujhako yun na lajao dil pe phir qabu na rahega
pyar se sara gulashan mahake nafarat se koi gul na khilega
vaqt se pahale qisamat se jyada kisi ko mila hai na kisi ko milega

pyar se sara gulashan mahake nafarat se koi gul na khilega 

वक्त से पहले किस्मत से ज्यादा
वक़्त से पहले किस्मत से ज्यादा किसी को मिला है न किसी को मिलेगा
प्यार से सारा गुलशन महके नफ़रत से कोई गुल न खिलेगा
वक़्त से पहले किस्मत से ज्यादा किसी को मिला है न किसी को मिलेगा
प्यार से सारा गुलशन महके नफ़रत से कोई गुल न खिलेगा 

Recommended for you  Ghar Aaja Pardesi Tera Des Bulaye Re Lyrics in Hindi

गम को हमने गीत बना कर इस दुनिया का दिल बहलाया
गम को हमने गीत बना कर इस दुनिया का दिल बहलाया

हंसते हंसते जाने कैसे दिल ही दिल में तुमको पाया
हम हैं सबके, कोई न अपना इक दिन कोई अपना मिलेगा
प्यार से सारा गुलशन महके नफ़रत से कोई गुल न खिलेगा

वक़्त से पहले किस्मत से ज्यादा किसी को मिला है न किसी को मिलेगा
प्यार से सारा गुलशन महके नफ़रत से कोई गुल न खिलेगा

नैन मिले और चेन गंवाया बात पुरानी फिर नयी है
नैन मिले और चेन गंवाया बात पुरानी फिर नयी है

तेरी नज़र ने मेरी नज़र से बिन बोले इक बात कही हैं
देख के मुझ को यूँ न जाओ दिल पे फिर काबू न रहेगा
प्यार से सारा गुलशन महके नफ़रत से कोई गुल न खिलेगा

वक़्त से पहले किस्मत से ज्यादा किसी को मिला है न किसी को मिलेगा
प्यार से सारा गुलशन महके नफ़रत से कोई गुल न खिलेगा 

627total visits,1visits today

Tagged , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *