Salame Ishq Meri Jaan Zara Kabool Kar Lo Lyrics in Hindi

Song : Salame Ishq Meri Jaan Zara Kabool Kar Lo
Singer : Lata Mangeshkar, Kishor Kumar
Movie : Mukaddar Ka Sikandar(1978)
Lyrics : Anjaan

ishq valo se na puchho
ki unaki rat ka alam
tanaha kaise guzarata hai
juda ho hamasafar jisaka,
vo usako yad karata hai
na ho jisaka koi
vo milane ki fariyad karata hai

salame-ishq meri ja zara qubul kar lo
salame-ishq meri ja zara qubul kar lo
tum hamase pyar karane ki zara si bhul kar lo
mera dil bechain hai
mera dil bechain hai hamasafar ke liye
mera dil bechain hai hamasafar ke liye

salame-ishq meri ja zara qubul kar lo
salame-ishq meri ja zara qubul kar lo
tum hamase pyar karane ki zara si bhul kar lo
mera dil bechain hai
mera dil bechain hai hamasafar ke liye
mera dil bechain hai hamasafar ke liye

mai sunaun tumhe bat ik rat ki
chad bhi apani puri javani pe tha
dil me tufan tha, ek araman tha
dil ka tufan apani ravani pe tha
ek badal udhar se chala jhum ke
ek badal udhar se chala jhum ke
dekhate dekhate chad par chha gaya
chad bhi kho gaya usake agosh me
uf ye kya ho gaya josh hi josh me
mera dil dhadaka
mera dil tadapa kisiki nazar ke liye
salame-ishq meri ja zara qubul kar lo

isake age ki ab dasta mujhase sun
sunake teri nazar dabadaba jaegi
bat dil ki jo ab tak tere dil me thi
mera dava hai hotho pe a jaegi
tu masiha muhabbat ke maro ka hai
ham tera nam sunake chale ae hai
ab dava de hame ya tu de de zahar
teri mahafil me ye dilajale ae hai
ek ehasan kar, ehasan kar
ik ehasan kar apane mehaman par
apane mehaman par ek ehasan kar
de duae, de duae tujhe umr bhar ke liye
salame-ishq meri ja zara qubul kar lo

Recommended for you  Husn Pahadon Ka Lyrics Hindi

इश्क वालो से न पूछो
की उनकी रात का आलम
तनहा कैसे गुज़रता हैं
जुदा हो हमसफ़र जिसका,
वो उसको याद करता हैं
न हो जिसका कोई वो मिलने की फरियाद करता हैं

सलामे-इश्क मेरी जाँ ज़रा कुबूल करलो
सलामे-इश्क मेरी जाँ ज़रा कुबूल करलो
तुम हमसे प्यार करने की ज़रा सी भूल कर लो
मेरा दिल बेचैन है
मेरा दिल बेचैन है हमसफ़र के लिए
मेरा दिल बेचैन है हमसफ़र के लिए

सलामे-इश्क मेरी जाँ ज़रा कुबूल करलो
तुम हमसे प्यार करने की ज़रा सी भूल कर लो
मेरा दिल बेचैन है
मेरा दिल बेचैन है हमसफ़र के लिए
मेरा दिल बेचैन है हमसफ़र के लिए
सलामे-इश्क मेरी जाँ ज़रा कुबूल करलो

मैं सुनाऊ तुम्हे बात इक रात की
मैं सुनाऊ तुम्हे बात इक रात की
चाँद भी अपनी पूरी जवानी पे था
दिल में तूफान था, एक अरमान था
दिल का तूफान अपनी रवानी पे था
एक बादल उधर से चला झूम के
एक बादल उधर से चला झूम के
देखते देखते चाँद पर छा गया
चाँद भी खो गया उसके आगोश में
उफ़ ये क्या हो गया जोश ही जोश में
मेरा दिल धड़का
मेरा दिल तडपा किसी की नज़र के लिए
सलामे-इश्क मेरी जा ज़रा कुबूल कर लो

इसके आगे की अब दास्ताँ मुझसे सुन
सुनके तेरी नज़र डबडबा जायेगी
बात दिल की जो अब तक तेरे दिल में थी
मेरा दवा हैं होठो पे आ जाएगी
तू मसीहा मुहब्बत के मारों का हैं
हम तेरा मन सुनके चले ऐ हैं
अब दावा दे हमें ये तू दे दे ज़हर
तेरी महफ़िल में ये दिलजले ऐ है
एक एहसान कर, एहसान कर
एक एहसान कर अपने मेहमान पर
अपने मेहमान पर एक एहसान कर
दे दुआएं, दे दुआएं तुझे ऊम्र भर के लिए
सलामे-इश्क मेरी जा ज़रा कुबूल कर लो

Recommended for you  Likhne Wale Ne Likh Dale Lyrics in Hindi

944total visits,1visits today

Tagged , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *